खबरों का है यही बाजार

स्वस्थ जीवन जीने के लिए आयुर्वेदिक जीवन शैली को अपनाना होगा: महापौर

0 102
                     BL NEWS
              लखनऊ. क्षेत्रीय आयुर्वेद अनुसंधान संस्थान, लखनऊ में “आज़ादी का अमृत महोत्सव” कार्यक्रम के अंतर्गत कोरोना महामारी से बचाव के लिए रोग प्रतिरोधी औषधियों (संशमनी वटी एवं अश्वगंधा) का (विशेषकर वरिष्ठ नागरिकों के लिए) एवं आयुष मंत्रालय द्वारा जारी आयुर्वेद आधारित आहार एवं जीवनशैली के लिए दिशानिर्देश प्रपत्र वितरण अभियान का शुभारंभ मुख्य अतिथि संयुक्ता भाटिया , महापौर नगर निगम लखनऊ द्वारा संस्थान प्रांगण में किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि संयुक्ता भाटिया एवं संस्थान प्रभारी डॉ. ओम प्रकाश , सहायक निदेशक द्वारा भगवान धन्वन्तरी को माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुआ।
मुख्य अतिथि संयुक्ता भाटिया एवं सेवा भारती के प्रतिनिधि डॉ. देवेन्द्र अस्थाना का स्वागत संस्थान प्रभारी एवं अनुसंधान अधिकारी डॉ. संजय कुमार सिंह द्वारा किया गया.
महापौर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि आयुर्वेद हमारी शाश्वत चिकित्सा एवं जीवन पद्धति जिसके द्वारा हम स्वस्थ्य एवं दीर्घजीवन जीने में सक्षम हो सकते है। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना माहमारी में लोगों ने आयुर्वेद की महती आवश्यकता को महसूस किया है, जब कोरोना की कोई दवाई उपलब्ध नही थी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए विश्व आयुर्वेद पर निर्भर हुआ था। कोरोना माहमारी के दौरान विश्व आयुर्वेद पर निर्भर हुआ और आयुर्वेद का लोहा माना। महापौर ने कहा कि खुशनुमा जीवन जीने के लिए हमे आयुर्वेद को अपने जीवन का हिस्सा बनाना चाहिए। कोरोना के साथ भी और कोरोना के बाद में स्वस्थ जीवन जीने के लिए आयुर्वेदिक जीवन शैली को अपनाना होगा। आयुर्वेद का सबसे बड़ा फायदा है कि इसके कोई साईड इफ़ेक्ट नही ही।
इस दौरान मुख्य अतिथि संयुक्ता भाटिया, महापौर नगर निगम लखनऊ के करकमलों द्वारा वरिष्ठ नागरिकों को रोग प्रतिरोधी औषधियों देकर वितरण अभियान का शुभारंभ किया गया.

इस मौके पर अथितिगणो के साथ कार्यक्रम में संस्थान के डॉ. रवि रंजन सिंह , एवं संस्थान के समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More