खबरों का है यही बाजार

हमें संक्रमण से बचाएगा कोरोना संगत व्यवहार: डॉ. राजीव गर्ग

बच्चे हैं अनमोल’ भाग-21

0 64
                   BL NEWS
        लखनऊ. कोरोना की तीसरी लहर कब और किस रूप में आएगी और कितनी भयानक होगी, ये कहना असंभव है। वर्तमान परिस्थितियों और वैज्ञानिक अध्ययनों को देखने से साफ पता चल रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर आएगी। कोरोना से बचाव को लेकर कोई ऐसी दवा नहीं है जो शतप्रतिशत सुरक्षा दे सके, हालांकि कोरोना संगत व्यवहार ही हमें संक्रमण से बचा सकता है, इसलिए कोरोना के मानकों का हमें पालन करना चाहिए।
उक्त बातें मुख्य वक्ता केजीएमयू के चिकित्सक डॉ. राजीव गर्ग ने मंगलवार को सरस्वती कुंज निरालानगर स्थित प्रो. राजेन्द्र सिंह रज्जू भैया डिजिटल सूचना संवाद केंद्र में आयोजित ‘बच्चे हैं अनमोल’ कार्यक्रम के 21वें अंक में कहीं। इस कार्यक्रम में विद्या भारती के शिक्षक, बच्चे और उनके अभिभावक सहित लाखों लोग आनलाइन जुड़े थे, जिनकी जिज्ञासाओं का समाधान भी किया गया।
मुख्य वक्ता डॉ. राजीव गर्ग ने कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि हमें यह मानकर चलना चाहिए कि कोरोना अभी समाप्त नहीं हुआ है, इसलिए संक्रमण की रफ्तार को कम करने के लिए हमें कोविड संगत व्यवहार को महत्ता देनी होगी।
विशिष्ट वक्ता एकेटीयू की असिस्टेंट प्रो. डॉ. प्रगति शुक्ला ने कहा कि कोरोना काल में महिलाएं किसी न किसी रूप में मानसिक तनाव का शिकार हुई। उन्होंने कहा कि तीसरी लहर की संभावना के बीच स्कूल भी खुलने जा रहे हैं, ऐसे में अभिभावकों को भी तैयार रहने की जरूरत है। कोरोना संकट के समय में परिवार के सभी सदस्य आपस में सामन्जस्य बनाकर रखें , अच्छी दिनचर्या का पालन करें और बच्चों के साथ मनोवैज्ञानिक व भावनात्मक रूप से जुड़कर उनके भी मानसिक तनाव को कम करने का प्रयास करें।
कार्यक्रम अध्यक्ष अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री घनश्याम शाही ने कोरोना के कारण बड़ी संख्या में हुए पलायन को लेकर चिंता व्यक्त की।
कार्यक्रम का संचालन विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के प्रचार प्रमुख सौरभ मिश्रा ने किया। इस कार्यक्रम में विद्या भारती पूर्वी उत्तर प्रदेश के सह प्रचार प्रमुख भास्कर दूबे, रजनीश वर्मा, अतहर रजा, शोभित सहित डिजिटल टीम मौजूद रही।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More