खबरों का है यही बाजार

शकील अहमद सिंचाई चालक संघ के अध्यक्ष निर्वाचित

चालक संघ सिंचाई विभाग का अधिवेशन सम्पन्न

0 128
                       BL NEWS
लखनऊ। राजकीय वाहन चालक संघ सिंचाई विभाग का द्विवार्षिक अधिवेशन, चुनाव 14 अगस्त को चौधरी चरण सिंह प्रेक्षागृह सिंचाई भवन एनेक्सी में चुनाव अधिकारी आल इण्डिया ड्राइवर्स फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व अध्यक्ष राजकीय वाहन चालक महासंघ रामफेर पाण्डेय, सहायक चुनाव अधिकारी  राजकीय वाहन चालक महासंघ के महामंत्री मिठाईलाल और क्षेत्रीय मंत्री राजकीय वाहन चालक महासंघ प्रशान्त मिश्रा की देखरेख में सम्पन्न हुई। अधिवेशन में शकील अहमद को सर्व सम्मति से अध्यक्ष निर्वाचित किया गया।
चुनाव अधिकारी रामफेर पाण्डेय ने पदाधिकारियों की घोषणा करते हुए निर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ दिलाई। निर्वाचित पदाधिकारियों में शकील अहमद अध्यक्ष, विवेक मिश्रा उपाध्यक्ष, ओरी लाल यादव प्रान्तीय मंत्री, सुनील कुमार और दिलीप कुमार संयुक्त मंत्री, कैलाश नाथ साहू संगठन मंत्री अनिल मिश्रा कोषाध्यक्ष, नीरज प्रचार मंत्री और मेघपाल आडीटर चुने गए। प्रदेश कार्यकारिणी में रामप्रताप, रमेश, बालकरन, सरवन यादव, बजरंग बहादूर सरोज, मानसिंह यादव, करन यादव और मुख्तार चुने गए। जबकि वर्ष 1999 से आज तक लगभग साढ़ बाईस साल प्रदेश अध्यक्ष रहे प्रमोद कुमार नेगी को संघ का सलाहकार निर्वाचित कार्यकारिणी द्वारा चुना गया जिसका सदन ने सर्व सम्मति से स्वागत किया। इस दौरान अपने सम्बोधन में प्रमोद कुमार नेगी ने कहा कि सेवा काल के छह माह बाकी रह गए इसलिए मुझे पद छोड़ना पड़ा आप लोगों ने इतने वर्षो तक जो स्नेह दिया उसके लिए हृदय से आभार प्रदर्शित करता हूॅ ,लेकिन इतना विश्वास दिलाता हूॅ पद छोड़ा है साथ नही छोड़ा, आपको जब जरूरत होगी मै उसी तरह सेवा में तत्पर रहूगा। नव निर्वाचित कार्यकारिणी द्वारा प्रमुख अभियंता एवं विभागाध्यक्ष को सम्बोधित चार सूत्रीय प्रस्ताव का वाचन करते हुए नव निर्वाचित प्रदेश अध्यक्ष शकील अहमद ने सदन को बताया कि विभाग में रिक्त वाहन चालकों के पदों पर शीघ्र भर्ती, पुराने वाहनों की जगह नए वाहनों की खरीद, टैक्सी प्रथा सामप्ति, ठेकेदारी प्रथा में कार्यरत चालकों को सरकार द्वारा निर्धारित वेतन की मांग की गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More