खबरों का है यही बाजार

विशेष सचिव बेसिक शिक्षा का अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

0 183
लखनऊ,राजधानी में हनी ट्रैप के जरिए अमीर व प्रभावशाली लोगों को फंसाकर वसूली करने का खेल लगातार खेला जा रहा है। इस बार इस खेल का शिकार कोई आम व्यक्ित नहीं बल्कि प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग के विशेष सचिव आरवी सिंह हुए हैं। उनका अश्लील वीडियो वायरल हुआ है, जो लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है। वीडियो वायरल होने के बाद विशेष सचिव ने मामले की शिकायत साइबर क्राइम सेल में दर्ज कराई है। अब साइबर क्राइम सेल की टीम इस मामले की जांच करने में जुटा हुआ है।वायरल वीडियो में आरवी सिंह महिला के साथ सचिवालय के कमरे में बैठकर अशलील चैट कर रहे थे। सोशल मीडिया पर यह वीडियो रितिक शर्मा के नाम की फेसबुक आईडी से आरबी सिंह की वाल पर शेयर किया गया है। इसके शेयर होने के थोड़ी देर बाद ही दोनों फेसबुक अकाउंट बंद कर दिए गए। वीडियो में विशेष सचिव एक युवती के साथ अश्लील चैट करते नजर आ रहे हैं। इस मामले में आरवी सिंह का कहना है कि उनके खिलाफ कोई साजिश की गई है। विशेष सचिव इस वीडियो को मार्च माह का बता रहे हैं। उनका कहना है कि धोखे से उनका वीडियो बनाया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश भी की जा रही है। उनका कहना है कि वह सचिवालय में काम कर रहे थे, उसी दौरान सोशल वर्कर के रूप में किसी लड़की की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई थी। जिस महिला ने फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी उसकी फ्रेंड लिस्ट में कई स्थानीय पत्रकार भी शामिल थे। उसको देखते हुए उन्होंने उसकी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली। कार्यालय में काम करने के दौरान उनके पास एक लिंक आया। उस पर क्लिक करते ही वीडियो देखकर वह हैरान हो गए। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर उन्हें ब्लैकमेल करने का प्रयास किया जा रहा है। वायरल वीडियो करीब 1.29 मिनट का है। बहरहाल साइबर क्राइम सेल पूरे मामले की जांच कर यह पता लगाने में जुटी है कि इसे कैसे और किसने बनाया और इसे कहां से वायरल किया गया है। एसीपी साइबर सेल विवेक रंजन राय ने बताया कि करीब एक माह पहले बेसिक शिक्षा विभाग के विशेष सचिव ने मामले की शिकायत की थी। अब उन्होंने लिखित शिकायत भी की है। शिकायत दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।

 

आशुतोष द्विवेदी 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More