खबरों का है यही बाजार

त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में लोकतन्त्र का चीरहरण निंदनीय: भाकपा

0 140
                        BL NEWS
            लखनऊ. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, उत्तर प्रदेश के राज्य सचिव मंडल ने कहा कि तीन दिनों तक चले हिंसक तांडव के बाद आखिर उत्तर प्रदेश में भाजपा ने ब्लाक प्रमुख के अधिकतम पदों पर कब्जा जमा लिया। कमरतोड़ महंगाई, कोरोना के झपट्टे से लोगों के जीवन बचाने में मुजरिमाना असफलता, अर्थव्यवस्था में महा गिरावट, बेरोजगारी और भुखमरी से पीड़ित उत्तर प्रदेश के आम मतदाताओं ने जिला पंचायत और बीड़ीसी सदस्यों के लिये हुये सीधे चुनावों में जिस भाजपा को बाहर का रास्ता दिखा दिया था, भाजपा और उसकी सरकार ने मध्यकालीन बर्बरता के बल पर चुने लोगों के वोटों को हड़प जिला पंचायतों और ब्लाक कमेटियों में कब्जा जमा लिया।
भाकपा राज्य सचिव मंडल ने कहा कि लोकतन्त्र की इस जघन्य हत्या को भाजपा और स्वयं मुख्यमंत्री जी 2022 का सेमी फायनल बता रहे हैं। देश भर में और उत्तर प्रदेश की जनता में इस बात पर गहरी बेचैनी और चिंता जताई जा रही है कि यदि सेमी फायनल ऐसा है तो उत्तर प्रदेश का आम चुनाव कैसा होगा? निश्चय ही बड़ी हिंसा की संभावनायेँ बन गयी हैं।
लोकतन्त्र के इस चीर हरण के लिये निर्वाचन आयोग, प्रशासन, पुलिस और भाजपा की दंगा ब्रिगेड सभी बराबर के भागीदार हैं।
उत्तर प्रदेश के समूचे विपक्ष को लोकतन्त्र के इस चीरहरण के खिलाफ मिल कर आवाज उठानी चाहिये। सर्वोच्च न्यायालय से स्वतः संज्ञान लेकर जांच कराने का आग्रह करना चाहिये। निर्वाचन आयोग और पुलिस प्रशासन के जिम्मेदार लोगों की ज़िम्मेदारी सुनिश्चित कर उन्हें दंडित किया जाना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More