खबरों का है यही बाजार

दलाई लामा प्रतिज्ञाओं पर अमल करने की जरूरत: पेन्पा श्रृंग

दलाई लामा के 86वें जन्मदिन परदलाई लामा के 86वें जन्मदिन पर वेबिनार आयोजित वेबिनार आयोजित

0 78
                   BL NEWS
          लखनऊ.। तिब्बत के सर्वोच्च धर्मगुरु दलाई लामा के 86वें जन्मदिन पर भारत-तिब्बत समन्वय संघ (बीटीएसएस) द्वारा आयोजित वेबिनार में तिब्बत की निर्वासित सरकार के राष्ट्रपति पेन्पा श्रृंग का संघ को भेजे अपने विशेष वीडियो संदेश में कहा गया कि दलाई लामा की सभी चार प्रतिज्ञाओं पर तत्काल अमल किए जाने की आवश्यकता है लेकिन चौथी सबसे महत्वपूर्ण है, जिसमें कहा गया है कि भारत की प्राचीन संस्कृति की ज्ञान संपदा से वर्तमान पीढ़ी को जागरूक किए जाने की जरूरत है।
वेबीनार के प्रारंभ में सारनाथ, वाराणसी के केंद्रीय तिब्बती विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने दलाई लामा के जन्म दिवस पर विशेष प्रार्थना कर उनके स्वास्थ्य दीर्घायु की कामना की। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. गेशे नवांग सैमतेन ने अपने उद्बोधन में कहा कि 1959 में चीन द्वारा जबरन कब्जा करने के बाद 80 हजार तिब्बतियों के साथ दलाई लामा भारत में आए और यहां आकर बस गए। वह भले ही कुछ वर्षों से तिब्बतियों के लिए राजनीतिक प्रमुख का काम नहीं कर रहे हैं लेकिन धार्मिक, सांस्कृतिक व आध्यात्मिक नेतृत्व के अंतर्गत ही वह पूरी दुनिया को व नैतिकता, करुणा व शांति का मार्ग दिखा रहे हैं।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पश्चिम उत्तर प्रदेश क्षेत्र के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख पद्म सिंह,जयप्रकाश नारायण विश्वविद्यालय के पूर्व वीसी प्रो. हरिकेश सिंह
ने भी विचार रखे.
तिब्बत सरकार के दिल्ली स्थित समन्वय केंद्र के उप समन्वयक तेन्ज़िन जॉर्डन ने कहा कि दलाई लामा तो विश्व के लिए मैत्री व करुणा के साक्षात धरोहर हैं लेकिन चीन का तिब्बत पर जबरन आधिपत्य किए जाने से जो मानवाधिकार का हनन तिब्बती मूल के लोगों पर हुआ है, वह दुनिया को देखने की जरूरत है।
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की पत्नी डॉ रश्मि त्यागी रावत भी कार्यक्रम से जुड़ीं लेकिन नेटवर्किंग समस्या से उनका उद्बोधन ना हो पाया। दलाई लामा के जन्मदिन की पूर्व संध्या पर आयोजित इस कार्यक्रम का संचालन शिमला से अखिलेश पाठक ने और अतिथियों व प्रतिभागियों का धन्यवाद वाराणसी के विवेक सोनी ने किया। गूगल मीट पर आयोजित सेमिनार में दलाई लामा पर आधारित दो लघु फिल्में भी दिखाई गई। वेबिनार में केंद्रीय संयोजक हेमेन्द्र तोमर, राष्ट्रीय महामंत्री द्वय अरविंद केसरी, विवेक मान के अलावा अन्य पदाधिकारियों में प्रो. राघवेंद्र स्वामी, महेश नारायण तिवारी, गजानन जोशी, कर्नल राजेश तंवर आशीष देवगन, भागवत प्रसाद पांडेय, मनीषा मुंढे, मनोज गहतोड़ी, आशुतोश गुप्ता, प्रखर त्रिपाठी, मुकेश तिवारी, अनिता जे सिंह, डॉ सोनी सिंह, इत्यादि कार्यकर्ता सहित लगभग 340 प्रतिभागी जुड़े।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More