खबरों का है यही बाजार

रेलवे उपकरणों की अवैध तरीके से बेचने में संलिप्तो को आरपीएफ ने किया गिरफ्तार

0 158
                       BL NEWS
लखनऊ.विगत कुछ दिनों से आरपीएफ उत्तर रेलवे लखनऊ को सूचना प्राप्त हो रही थी कि वरिष्ठ खंड अभियंता संकेत रायबरेली के अधीन लीडिंग कांट्रेक्टर मो. आरिफ पुत्र सज्जन अहमद के द्वारा रेलवे का संकेत विभाग से सम्बंधित रेल संपत्ति की ढुलाई के दौरान रेल कर्मियों की मिली भगत से रेल संपत्ति की चोरी कर रायबरेली शहर के स्थानीय कबाडियों को बेच दिया जाता था और यह भी सूचना प्राप्त हुई कि 28 जून को भी रेल संपत्ति की चोरी हुई थी | सूचना के आधार पर आर.पी.एफ. क्राइम ब्रांच उत्तर रेलवे लखनऊ द्वारा अपराधियों की धर-पकड़ के लिए सुनियोजित योजना बनाकर 29 जून को रेलवे कांट्रेक्टर मो. आरिफ के घर पर छापा मार कर भरी मात्रा में रेलवे के सिग्नल विभाग में प्रयोग होने वाले 143 रिले बरामद किये गए एवं बरामद शुदा रिले को चोरी कर लड़ने में प्रयुक्त वाहन संख्या यू पी 32 CZ 5137 एवं उसके चालक को भी हिरासत में लिया गया | पूछताछ में अभियुक्त मो.आरिफ ने वरिष्ठ खंड अभियंता संकेत रायबरेली सौरभ सिंह, संकेत निरीक्षक, मोहनलालगंज के.के. रावत एवं निगोहा में तैनात ईएसएम सुशील कुमार से सांठ-गांठ कर मोहनलालगंज एवं निगोहा स्टेशन से रिले को चोरी करना स्वीकार किया | अभियुक्त मो. आरिफ ने यह भी बताया की वह वरिष्ठ खंड अभियंता संकेत रायबरेली सौरभ सिंह के साथ मिलकर पूर्व में भी कई बार रेल संपत्ति, सिग्नल उपकरणों की चोरी कर रायबरेली के स्थानीय कबाड़ी नजीर अहमद उर्फ़ मुन्ना के कबाड़ की दुकान पर बेचा था | इस सूचना के आधार पर आर.पी.एफ. क्राइम ब्रांच उत्तर रेलवे लखनऊ की टीम ने रायबरेली शहर में स्थित सारस होटल के निकट नजीर अहमद उर्फ़ मुन्ना की कबाड़ की दुकान की तलाशी ली तो वहां से 14 अदद रेलवे सिग्नल विभाग के रिले बरामद हुए वह कबाड़ी नजीर अहमद उर्फ़ मुन्ना को भी गिरफ्तार किया गिरफ्तारशुदा अभियुक्तों के बयान के आधार पर संलिप्त रेलकर्मियो वरिष्ठ खंड अभियंता संकेत रायबरेली सौरभ सिंह, संकेत निरीक्षक, मोहनलालगंज के.के. रावत एवं निगोहा में तैनात ईएसएम सुशील कुमार को आर.पी.एफ. उत्तर रेलवे रायबरेली की टीम द्वारा गिरफ्तार कर माननीय न्यायलय में पेश किया गया |

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More