खबरों का है यही बाजार

रेसलर सुशील कुमार की मुश्किलें बढ़ीं, जान के पीछे पड़ा काला जठेड़ी गैंग

0 182
                       BL  NEWS
नई दिल्ली: अंतरराष्ट्रीय रेसलर और हत्या के आरोपी सुशील कुमार को 18 दिन बाद रविवार को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया. हैरान करने वाली बात ये है कि इन 18 दिन में सुशील कुमार न सिर्फ पुलिस से बचने की कोशिश कर रहे थे बल्कि गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी से भी छिप रहे थे. कहा जा रहा है रेसलर सुशील कुमार सागर धनखड़ की हत्या के बाद काला जठेड़ी गैंग सुशील कुमार और उनके साथियों की तलाश कर रहा है.
काला जठेड़ी गैंग से छिप रहे सुशील कुमार
टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों के अनुसार रेसलर सुशील कुमार ने गैंगस्टर काला जठेड़ी से संपर्क करने की कोशिश भी की, जिससे कि उन्हें माफी मिल जाए. ये भी कहा जा रहा है कि सुशील कुमार को इतनी चिंता पुलिस की नहीं है, जितनी उनको काला जठेड़ी गैंग के गुर्गों से अपनी जान बचाने की है. सुशील कुमार को डर है कि जेल में काला जठेड़ी गैंग के गुर्गे उनके ऊपर हमला कर सकते हैं.
सुशील की जान का दुश्मन क्यों बना काला जठेड़ी गैंग?
ज्ञात हो कि गैंगस्टर काला जठेड़ी रेसलर सुशील कुमार की जान का दुश्मन क्यों बन गया? दरअसल जब रेसलर सुशील कुमार ने सागर धनखड़ पर कथित रूप से हमला किया, उस वक्त वहां गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जठेड़ी का भतीजा सोनू भी मौजूद था. सोनू सागर को मारे जाने का विरोध कर रहा था. ऐसे में सुशील कुमार ने सोनू पर भी हमला कर दिया, जिसमें सोनू को गंभीर चोटें आईं. इसके बाद से काला जठेड़ी गैंग सुशील कुमार की जान के पीछे पड़ गया.
सोनू के खिलाफ भी दर्ज हैं कई गंभीर मामले
बताया जा रहा है कि गैंगस्टर काला जठेड़ी सोनू को अपने बेटे की तरह मानता है. जान लें कि सोनू पर भी मर्डर, फिरौती और रॉबरी के 19 मामले पुलिस स्टेशन में दर्ज हैं. सूत्रों के अनुसार, गैंगस्टर सुशील कुमार उर्फ काला जठेड़ी इस वक्त दुबई में है.
खबरों के मुताबिक, काला जठेड़ी गैंग देश की राजधानी दिल्ली में बड़े पैमाने पर जमीनों और फ्लैट्स पर अवैध कब्जा करने में शामिल है. रेसलर सुशील कुमार के भी काला जठेड़ी गैंग से संबंध थे, जो सागर धनखड़ की हत्या और सोनू पर हमले के बाद से बेहद खराब हो गए.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More