खबरों का है यही बाजार

आम आदमी की ताक़त बढ़ाने में यकीन रखते थे राजीव गांधी- मणिशंकर अय्यर

0 194
  1. राजीव गांधी की 30 वीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने किया ‘आधुनिक भारत के निर्माण में राजीव गांधी की भूमिका’ पर वेबीनार
    BL  NEWS
  2. लखनऊ . भारत रत्न पूर्व प्रधानमन्त्री स्व. गांधी की 30 वीं पुण्यतिथि पर अल्पसंख्यक कांग्रेस ने ‘आधुनिक भारत के निर्माण में राजीव गांधी की भूमिका’ पर वेबीनार आयोजित किया.
    मुख्य अतिथि पूर्व केंद्रीय मन्त्री मणिशंकर अय्यर ने कहा कि राजीव जी लोकतंत्र में आम आदमी की निर्णायक भागीदारी को मजबूत करने में यक़ीन रखते थे. पंचायती राज का उनका सपना इसकी मिसाल है.
    मणिशंकर अय्यर ने कहा कि 2001 में सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में स्पष्ट किया था कि शाह बानो मामले में राजीव गांधी सही थे.
    पूर्व पेट्रोलीयम और पंचायती राज मन्त्री ने कहा कि 2004 में सुप्रीम कोर्ट ने बोफोर्स मामले में राजीव गांधी जी पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया था. लेकिन एक साजिश के तहत मीडिया का एक हिस्सा शाहबानो और बोफोर्स पर राजीव गांधी जी के खिलाफ़ अभियान चलाता रहा है. उन्होंने कहा कि राजीव जी हमेशा फिलिस्तीन के मसले पर मजबूती से उसके साथ खड़े रहते थे.
    पूर्व अफ़सरशाह, पूर्व सूचना आयुक्त और ‘माई इयर्स विथ राजीव’ पुस्तक के लेखक वजाहत हबीबुल्लाह ने कहा कि राजीव गांधी बुनियादी तौर पर ज़्यादा से ज़्यादा विचारों को सुनने और हर निर्णय में ज़्यादा से ज़्यादा लोगों से राय लेने में यक़ीन रखते थे.
    हबीबुल्लाह ने कहा कि पंचायती राज और नवोदय विद्यालय का विचार उन्हें ऐसे ही बहसों से मिला था. राजीव जी अक्सर लोगों को बोलने के लिए उकसाते थे ताकि कोई नया विचार आए.
    अपनी पुस्तक के हवाले से हबीबुल्लाह ने कहा कि बाबरी मस्जिद ताला प्रकरण में उन्हें अंधेरे में रखा गया जो उन्हें बदनाम करने और कांग्रेस को नुक्सान पहुंचाने के उदेश्य से किया गया षदयंत्र था जिसमें पार्टी के अंदर और बाहर के लोग शामिल थे.
    हबीबुल्लाह ने कहा कि राजीव जी भारत की वैश्विक भूमिका को लेकर भी प्रयासरत रहते थे.
    वेबीनार को प्रोफारेशनल कांग्रेस के अनीस अंसारी, राजीव गांधी स्टडी सरकिल के प्रोफेसर सतीश राय, वरिष्ठ अधिवक्ता ओपी शर्मा, प्रोफेसर विनोद चंद्रा व अन्य लोगों ने भी संबोधित किया.
    वेबीनार का संचालन अल्पसंख्यक कांग्रेस प्रदेश चेयरमैन शाहनवाज़ आलम ने किया.

     

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More