खबरों का है यही बाजार

देशवासियों को गुमराह करने वालों पर क्यों न हो सामूहिक हत्या का मुक़द्दमा:वीरेन्द्र मिश्र

0 41
                      BL NEWS
लखनऊ, जब देश ने वैक्सीन लगाने का निर्णय लिया, तब से बुद्धिजीवी वर्ग, गैर भाजपा राजनीतिक दलों,विभिन्न एनजीओ , मीडिया में बोलना शुरू कर दिया कि डेटा नहीं हैं,फर्जी हैं और हम टीका नहीं लगवाएंगे।मीडिया ने भी भारतीय वैक्सीन के विरोध में देशभर में आंदोलन छेड़ दिया।
इस दौरान के वैक्सीन के विरोध में तमाम प्रिन्ट व.इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में बेशुमार न्यूज़ व लेख छापे।, प्राप्त सूची के अनुसार इंडियन एक्सप्रेस -182, लोकसत्ता-172, नवभारत टाइम्स -236, हिन्दुस्तान टाइम्स 123,टाइम्स ऑफ इंडिय -28, दी वायर -78, दि प्रिन्ट -59, स्क्रोल -122, न्यूज़ लाड्री -54,अल्टरन्यू-78, दी हिन्दू-128 बार भ्रामक समाचार प्रसारित हुए। विरोधी राजनीतिक दलों के तमाम नेताओं ने वैक्सीन के विरोध में कांग्रेस पार्टी -58, समाजवादी पार्टी-17, शिवसेना-27, डीएमके 13, सीपीएम 12, टीएमसी -12तथा 265 बड़ी एनजीओ के संस्थापको व कर्मचारियों ने तथा 172 रिटायर्ड आईएएस, आईपीएस, जज और अन्य सरकारी अधिकारियों ने भी वैक्सीन के विरोध में बोला , कार्टूनिस्टों ने भी वैक्सीन के विरोध में 342 कार्टून बनाये हैं। अपने इन कार्योंसे इन लोगों को न केवल देशवासियों को गुमराह किया बल्कि लाखों लोगो की मौतों के कारण भी बने।आज यही नेता और मीडिया मे वैक्सीन लगवाने की होड़ लगी है बल्कि अब यह नेता सभी को फ्री वैक्सीन लगाने के लिए।वैसे आन्दोलन चला रहे हैं।
भ्रष्टाचार मुक्ति आन्दोलन के अध्यक्ष वीरेन्द्र मिश्र ने कहा है कि ऐसे देशद्रोही मीडिया, सत्ता लोभी नेताओं के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम होना चाहिये जिनके भड़कावे में आकर लाखों देशवासियों की मौतें हुई हैं।
आज यही आंदोलनकारी लोग चुपचाप जाकर वैक्सीन लगवा रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More