खबरों का है यही बाजार

कानपुर प्रफेसर का दावा… 20 मई के बाद कोरोना का ग्राफ गिरेगा… जानिए किन शहरों में संक्रमण कब होगा पीक पर—

0 188
लखनऊ वायरस का संक्रमण देश के कई राज्यों में पीक पर है। उत्तर प्रदेश, महाराष्ट, मध्यप्रदेश, बिहार समेत कई राज्य संक्रमण की मार झेल रहे हैं। आईआईटी कानपुर के प्रफेसर मणींद्र अग्रवाल ने दावा किया है कि यूपी के कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी, लखनऊ में संक्रमण का ग्राफ 20 मई के बाद नीचे गिरेगा। जहां प्रतिदिन शहरों में संक्रमण के केस डेढ़ से दो हजार के बीच आ रहे हैं, वहां 20 मई के बाद सैकड़ों में सीमित हो जाएंगे।
आईआईटी कानपुर के कंप्यूटर सांइस इंजीनियरिंग विभाग के प्रफेसर पद्मश्री मणींद्र अग्रवाल ने गणतीय विश्लेषण के आधार पर दावा किया है। उन्होंने कोरोना प्रभावित हर एक राज्य का अलग-अलग डाटा तैयार किया है। प्रफेसर ने गणतीय विश्लेषण के आधार पर दावा है कि यूपी के प्रमुख शहरों कानपुर, लखनऊ, वाराणसी और प्रयागराज और कई अन्य शहरों में संक्रमण का ग्राफ तेजी से गिरेगा, जबकि कुछ राज्यों में संक्रमण का ग्राफ तेजी से बढ़ेगा।
प्रफेसर मणींद्र अग्रवाल का कहना है कि कानपुर में बीते 28 से 30 अप्रैल के बीच कोरोना पीक पर था। यह विश्लेषण पिछले साल के संक्रमण दर की स्थिति और दूसरी लहर के संक्रमण के फैलाव के आधार पर निकाला गया है।
संक्रमण का विश्लेषण इस आधार पर किया गया–
आईआईटी कानपुर प्रफेसर मणींद्र अग्रवाल ने पिछले साल के संक्रमण फैलाव और प्रतिरोधक क्षमता का विश्लेषण जनसंख्या के आधार पर किया। विश्लेषण में शहरों की जनसंख्या, जांच में मिले संक्रमित मरीजों और कितने दिनों में लोगों तक संक्रमण पहुंच रहा है। इसकी गणना को समावेश किया गया।
विश्लेषण के आधार पर दावा किया कि पिछले वर्ष मार्च में तीन दिनों में एक व्यक्ति संक्रमित हो रहा था। इस वर्ष मार्च में संक्रमण का फैलाव तेज रहा और दो दिनों में एक व्यक्ति संक्रमित हुआ। पिछले महीने अप्रैल में संक्रमण का फैलाव मार्च से भी तेज था और संक्रमण अपने पीक पर पहुंचा गया। तेजी से फैलते हुए संक्रमण को देखकर लोग जागरूक नहीं हुए। इस लिए वायरस तेजी से फैल गया।नोएडा में इस तारीख को आएगा कोरोना का पीक,यूपी के नोएडा में कोरोना का पीक टाइम 8 से 12 मई के बीच आने वाला है। इसके बाद कोरोना के ग्राफ में तेजी से गिरावट आएगी। विश्लेषण रिपोर्ट के आधार पर मुंबई में कोरोना का पीक टाइम 20 से 22 अप्रैल के बीच आ चुका है। एक जून तक कोरोना से राहत मिल जाएगी। पटना में 24 से 26 अप्रैल के बीच कोरोना का पीक टाइम आ चुका है। चेन्नई में 25 से 30 मई तक कोरोना का पीक टाइम आने की उम्मीद है। वहीं, कोलकाता में 12 मई के आसपास पीक टाइम आने की उम्मीद है।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More