खबरों का है यही बाजार

जबरिया रिटायर्ड’ आईपीएस के खिलाफ सीबीआई जांच कराने को लिखा पत्र.

0 132
BL NEWS
लखनऊ.देश के आईपीएस अधिकारियों की स्क्रीनिंग में फिट नहीं पाए जाने पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के बाद 1992 बैच के यूपी कैडर के आईपीएस अमिताभ ठाकुर को सूबे के राज्यपाल के निदेश पर अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने सेवा पूर्ण होने से पूर्व ही बीती 21 मार्च को अधिसूचना जारी करके सेवानिवृत्त कर दिया है. अब सूबे की नामचीन समाजसेविका ने केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर ‘जबरिया रिटायर्ड’ आईपीएस अमिताभ ठाकुर के खिलाफ सीबीआई जांच कराने की मांग उठा दी है.
उर्वशी कहती हैं कि अमिताभ ठाकुर द्वारा आय से अधिक सम्पातियाँ अर्जित करने, काले धन से परिवारीजनों के नाम पर संपत्ति क्रय-विक्रय करने,अपनी पत्नी नूतन ठाकुर के साथ मिलकर अनेकों NGOs बनाकर काले धन को सफेद करने, पीआईएल ट्रेडिंग करने, आईपीएस पद का दुरुपयोग करके लोगों के प्लॉट्स पर अवैध कब्जे करने आदि के सम्बन्ध में माननीय लोक आयुक्त उत्तर प्रदेश के समक्ष एक परिवाद संख्या 2583-2015 दर्ज हुआ था जिस पर जांचोपरांत लोक आयुक्त जस्टिस ( रिटायर्ड ) एन. के मल्होत्रा ने अमिताभ ठाकुर को दोषी पाते हुए ठाकुर के खिलाफ प्रतिवेदन संख्या 04-2015 24 अगस्त 2015 को शासन को भेजा था जिस पर कार्यवाही लंबित है l
उर्वशी कहती हैं कि प्रतिवेदन की अनुशंषाओं के प्रथम बिंदु में लोकायुक्त ने प्रश्नगत प्रतिवेदन में इंगित समस्त तथ्यों का समावेश करते हुए अमिताभ ठाकुर के खिलाफ प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराने की सुस्पष्ट अनुशंषा की थी l लोकायुक्त ने 5 बिन्दुओं पर अनुशंषा करके अमिताभ ठाकुर के खिलाफ केन्द्रीय जांच एजेंसियों सी.बी.आई.,प्रवर्तन निदेशालय आदि से जांच कराने की भी अनुशंषा की थी l

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More