खबरों का है यही बाजार

पराली जलाने पर प्रशासन सख्त अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में प्रदूषण की रोकथाम के लिये अधिकारियों की बैठक

0 176
पंकज चतुर्वेदी। उरई , 07 सितम्बर 2020 ,अपर जिलाधिकारी(वि0 एवं रा0) प्रमिल कुमार सिंह की अध्यक्षता में प्रमोशन आॅफ एग्रीक्लचरल मैकेनाइजेशन फाॅर इन-सीटू मैनेजमेन्ट, आॅफ क्राॅप रेजीड्यू योजनान्तर्गत जनपद स्तरीय कार्यकारी समिति एवं फसलों के अवशेष जलाये जाने से उत्पन्न हो रहे प्रदूषण की रोकथाम हेतु जनपद स्तर पर गठित अनुश्रवण सेल एवं तहसील स्तर पर गठित उड़नदस्ता में नामित अधिकारी/कर्मचारियों की बैठक  विकास भवन सभागार, उरई में हुई।  बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, जालौन अपर पुलिस अधीक्षक, जालौन उप कृषि निदेशक,जालौन समस्त उपजिलाधिकारी, जालौन जिला कृषि अधिकारी, जालौन जिला विकास प्रबन्धक नाबार्ड जालौन जिला पंचायत राज अधिकारी, जालौन सहायक निबन्धक सहकारी समितियां,जालौन अग्रणी जिला प्रबन्धक, इलाहाबाद बैंक, समस्त भूमि संरक्षण अधिकारी, जनपद जालौन अध्यक्ष मृदा परीक्षण प्रयोगशाला उरई, प्रतिनिधि अध्यक्ष कृषि विज्ञान केन्द्र जालौन भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन एवं भारतीय किसान संघ के प्रांत अध्यक्ष श्री साहब सिंह चैहान, जनपद के प्रगतिशील कृषक श्री अशोक कुमार सिंह ग्राम मड़ोरी एवं श्री लक्ष्मीनारायण चतुर्वेदी ग्राम सालाबाद सहित जनपद स्तर पर गठित अनुश्रवण सेल एवं तहसील स्तर पर गठित उड़नदस्ता में नामित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।
बैठक में उप कृषि निदेशक, जालौन द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में पराली जलाने की घटनाओं को रोकने एवं पराली प्रबन्धन हेतु 19 फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना का लक्ष्य प्राप्त है। जिसपर 80 प्रतिशत एवं अधिकतम 4 लाख रूपये अनुदान देय है। जोकि 15 ग्राम पंचायतों एवं 04 सहकारी समितियों को वितरित किया जाना है। भारत सरकार द्वारा फसल अवशेष प्रबन्धन हेतु पैडी स्ट्राचापर, श्रेडर, मल्चर, श्रब मास्टर, रोटरी स्लेशर, हाइड्रालिक रिवर्सेबुल एम0बी0 प्लाऊ, सुपर सीडर, बेलर, सुपर स्ट्रा मैनेजमेन्ट सिस्टम(सुपर एस0एम0एस0), जीरो टिल सीड कम फर्टीड्रिल, हैप्पी सीडर, स्ट्रा रेक, क्राप रीपर व रीपर कमबाइंडर आदि यंत्र चिन्हित किये गये हैं। साथ ही ये यंत्र किस प्रकार कार्य करते हैं इससे अवगत कराया गया।
अध्यक्ष महोदय द्वारा सहायक निबन्धक एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जल्द से जल्द क्रमशः 04 सहकारी समितियों एवं 15 ग्राम पंचायतों के प्रस्ताव उप कृषि निदेशक कार्यालय में उपलब्ध करायें जिससे ससमय आॅनलाइन प्रक्रिया पूर्ण कर यंत्रों के क्रय हेतु अनुदान प्रदत्त कराया जा सके।
भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष राजवीर सिंह जादौन द्वारा बैठक में पराली प्रबन्धन हेतु जनपद की मिट्टी के नेचर अनुरूप यंत्र दिलवाये जाने की मांग की गयी।
अध्यक्ष करते हुए अपर जिलाधिकारी ने पराली जलाने की घटनाओं की रोकथाम हेतु गठित तहसील स्तरीय उड़नदस्तों में नामित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को निर्देशित करते हुए कहा  कि धान कटने के समय से लेकर रबी में गेहूं की बुवाई तक प्रतिदिन फसल अवशेष जलाने की घटनाओं एवं इसकी रोकथाम के लिये नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही करेंगे। पिछले वर्ष जिन क्षेत्रों में उक्त घटना अधिक घटित हुई है वहां सघनता से निगरानी करेंगे एवं पराली जलाये की घटनायें पाये जाने की स्थिति में उड़नदस्ता द्वारा सम्बन्धित थाने में प्राथमिकी भी दर्ज करायी जाये।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More