खबरों का है यही बाजार

अद्भुत आलौकिक अविस्मरणीय बने राम मंदिर: स्वामी देवेंद्र प्रसादाचार्य

0 240
अयोध्या। प्रभु राम से जुड़ी स्मृतियों को भी संजोए जाने की आवश्यकता विश्व का विशालतम राम मंदिर निर्माण तथा अपनी अन्य आठ सूत्रीय मांगों को लेकर हिंदूवादी संगठनों द्वारा चलाई जा रही मुहिम को दिनोंदिन आशातीत सफलता मिलती दिखाई दे रही है पूर्व में कृष्ण द्वारा जहां 128 फुट मंदिर बनाने की घोषणा की गई थी।
वही हिंदूवादी संगठनों के विरोध और संघर्ष के दबाव में आते हुए इसकी ऊंचाई 161 फुट की गई है किंतु हिंदूवादी संगठन अभी इस ऊंचाई पर राजी नहीं है उनकी मांग कम से कम 251 मीटर की है जिसके लिए वे निरंतर संघर्ष और प्रमुख संतों तथा आमजन से संपर्क करने में लगे हुए हैं।
संपर्क की इसी कड़ी में हिंदूवादी संगठनों का प्रतिनिधिमंडल अयोध्या के दशरथ गद्दी बड़ा स्थान के प्रमुख संत बिंदुगघाचार्य स्वामी देवेंद्र प्रसाद आचार्य से मिला पत्रक को पढ़ने के उपरांत बिंदुगघाचार्य स्वामी देवेंद्र प्रसाद आचार्य द्वारा की जा रही है मांग का पूर्ण समर्थन करते हुए प्रपत्र पर हस्ताक्षर कर दिए गए, स्वामी देवेंद्र प्रसाद आचार्य जी महाराज ने कहा विश्व का अलौकिक और अद्भुत मंदिर बनाए जाने की आवश्यकता है।
साथ ही साथ भगवान राम से जुड़ी हुई स्मृतियों को भी संजोए जाने की आवश्यकता है, 251 मीटर का मंदिर निश्चित रूप से विश्व में आलौकिक होगा ट्रस्ट को इस विषय पर गंभीरता पूर्वक सोचना चाहिए, हिंदूवादी संगठनों के कार्य पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि संघर्ष करते रहिए संपूर्ण संत समाज आपके साथ खड़ा हुआ है।
बाबरी विध्वंस के आरोपी व धर्म सेना के संस्थापक प्रमुख संतोष दूबे ने संतों द्वारा किए जा रहे सहयोग पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदू समाज आपका सदैव ऋणी रहेगा हिंदू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अधिवक्ता मनीष पांडेय ने जानकारी देते हुए बताया कि 1111 हस्ताक्षर युक्त प्रपत्रो पर संतों और आमजन का सहयोग अविस्मरणीय है।
जब-जब संतो ने अधर्म के नाश के लिए धर्म ध्वजा धारण की है तब तक हिंदू समाज में क्रांति का संचार हुआ है।हस्ताक्षर का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 5 अगस्त के आगमन पर उन्हें यह हस्ताक्षर तो प्रपत्र सौंपे जाने की योजना है हस्ताक्षर अभियान में धर्म सेना के प्रदेश अध्यक्ष रवि शंकर पांडेय तथा अजय द्विवेदी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।
सवांददाता: सौरभ भट्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More