खबरों का है यही बाजार

अपराध का काल कहे जाने वाली STF से मुठभेड़ में दो कुख्यात बदमाश ढेर

0 314
लखनऊ, । मडिय़ांव इलाके में आइआइएम रोड पर घैला के पास बुधवार रात एसटीएफ और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान दोनों ओर से ताबड़तोड़ कई राउंड गोलियां चलीं। इसमें एक लाख का इनामी बदमाश अलीशेर और उसका साथी कामरान ढेर हो गया। कामरान 25 हजार का इनामी था। दोनों बीते दिनों रांची में भाजपा एसटी मोर्चा के जिलाध्यक्ष जीतराम मुंडा की हत्या में अलीशेर आरोपित था। रांची पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। एएसपी एसटीएफ विशाल विक्रम सिंह ने बताया कि बदमाशों के पास से एक कार्बाइन, दो पिस्टल, एक देसी तमंचा, एक बाइक और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए हैं।अलीशेर ने बीते दिनों रांची में भाजपा के एसटी मोर्चा के जिलाध्यक्ष पर ओरमांझी के पालू चौराहे पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर उन्हें छलनी कर दिया था। घायल भाजपा नेता को मेदांता ले जाया गया था। जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। हत्या में अलीशेख का नाम आया था।बताया जा रहा है कि अलीशेख और कामरान दोनों पहले मुख्तार अंसारी के शूटर थे। अब कुख्यात अपराधी अमन के साथ जुड़ गए थे। अमन इन दिनों रांची जेल में बंद है। दोनों अमन गैंग के शार्प शूटर हैं। अमन जेल से ही अपना नेटवर्क चला रहा है। अमन के इशारे पर यह फिरौती, अपहरण की घटनाएं करने के साथ ही भाड़े पर हत्याएं करने लगे। कामरान आजमगढ़ का रहने वाला था।एएसपी विशाल विक्रम सिंह के मुताबिक सूचना मिली थी कि दोनों पुराने लखनऊ में एक बड़े व्यवसायी की हत्या करने आए थे। व्यवसायी की हत्या की सुपारी ली थी। सूचना मिलते ही आलाधिकारियों के निर्देश पर टीम पहुंची। घैला के पास दोनों की लोकेशन मिली। दोनों को संदिग्ध समझकर रुकने के लिए कहा गया। इस बीच दोनों ने एसटीएफ की टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। घेराबंदी कर दोनों को घेर लिया गया। टीम ने भी आत्मरक्षा में जवाबी फायरिंग की। मुठभेड़ में अलीशेर और कामरान घायल हो गया। दोनों को अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More