खबरों का है यही बाजार

कोरोना महामारी का कहर जारी लखनऊ के पांच इलाकों पर पड़ा भारी,किया गया सील

0 135

उत्तर प्रदेश। लखनऊ में कसाईबाड़ा के बाद चार और इलाकों को रविवार सुबह सील कर दिया गया। इनमें राजाजीपुरम में पीरपक्का मस्जिद, कैसरबाग में रमनिया व फूलबाग मस्जिद, वजीरगंज में मोहम्मदी मस्जिद और सआदतगंज में एक मस्जिद के आसपास का इलाका शामिल है। पुलिस ने यह कार्रवाई इन मस्जिदों में मिले सात जमातियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद की है।
पुलिस कमिश्नर ने मातहतों को सील किये गए इलाकों में किसी की तरीके के आवागमन को रोक देने को कहा है। बेहद जरूरी होने पर ही किसी को घर से निकलने की छूट देने को कहा है। इन सभी इलाकों में स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम कर्मचारियों की टीमें पहुंच गई है। पूरे इलाके को सैनिटाइज करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।
राजाजीपुरम में आलमनगर सीमा पर पीर पक्का मस्जिद में मिले एक जमाती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। सुबह यह पता लगते ही पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया। यहां की स्थिति का जायजा लिया गया। पता चला कि ये यहां मिले जमाती निजामुद्दीन में हुए आयोजन में शामिल हुए थे। इसके बाद ही इस इलाके को सील करने का निर्णय लिया गया। एसीपी कैसरबाग आईपी सिंह ने बताया कि रमनिया मस्जिद में मिले जमाती भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए है।

इस वजह से इस मस्जिद के आस पास के इलाके को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। फूलबाग मस्जिद के आस पास के कुछ इलाकों में भी आवागमन पर रोक लगायी गई है। मेडिकल इमरजेंसी होने पर ही लोगों को निकलने दिया जा रहा है। साथ ही इन जमातियों के सम्पर्क में आये लोगों की सूची तैयार की जा रही है। कुछ देर बाद ही इन्हें चिन्हित कर क्वारंटीन के लिये भेजा जायेगा। इसके अलावा वजीरगंज की मोहम्मदी मस्जिद और सआदतगंज की एक मस्जिद में मिले जमाती की रिपोर्ट संक्रमित बतायी जा रही है। लिहाजा यहां पर फोर्स ज्यादा लगाकर इलाके को सील कर दिया गया है।
सभी दुकानें बंद कराई गई। सील हुए इन चारों इलाकों की दुकानें बंद करा दी गई हैं। कुछ लोगों ने दुकानें बंद कराने का विरोध भी किया पर पुलिस की सख्ती के आगे इनकी एक नहीं चली। वहीं आवागमन को अचानक बंद करने को लेकर घरों से निकल चुके लोगों से पुलिस की कई जगह कहासुनी भी हुई।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More