खबरों का है यही बाजार

गांधी जयंती की पूर्वसंध्या पर संगीत नाटक अकादमी में भजन संध्या आयोजित

0 74
                 BL NEWS
                        लखनऊ। उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी में डेढ़ सौ साल से भी पहले जन्मे राष्ट्र नायक महात्मा गांधी की जयंती की पूर्ववेला पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीरामचन्द्र के भक्तिभाव भरे भजनों की गूंज उठी। भजन कार्यक्रम का आयोजन अकादमी परिसर गोमतीनगर के संत गाडगेजी महाराज प्रेक्षागृह में चौरी-चौरा शताब्दी महोत्सव और आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत किया गया था।
अतिथियों की उपस्थिति में महात्मा गांधी का पुष्पांजलि अर्पित करते हुए कार्यक्रम का आरम्भ हुआ। इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत अकादमी के सचिव तरुण राज ने किया।
कार्यक्रम की शुरुआत लखनऊ की गायिका विभा सिंह ने गोस्वामी तुलसीदास की भजन रचना- जाके प्रिय न राम वैदेही से समर्पण भरे स्वरों में की। गायिका की स्वरबद्ध की ये प्रस्तुति राग यमन पर आधारित थी। विभा देश-प्रदेश में अनगिनत कार्यक्रम करने के साथ तीन वर्ष पहले थाईलैंड में गायन कर सम्मानित हो चुकी हैं। गायन में पीएचडी कर रही भातखंडे संगीत संस्थान समविश्वविद्यालय से संगीत निपुण गुरु गणेश प्रसाद मिश्र व उस्ताद गुलशन भारती की शिष्या विभा सिंह ने मानस रचयिता गोस्वामीजी की राग शिवरंजनी में निबद्ध और खुद की स्वरबद्ध एक और भजन रचना- वन चले राम रघुराई को प्रस्तुत करते हुए श्रोताओं में करुणा का संचार किया। केशरीनाथ त्रिपाठी की रचना- मैंने भजा है जय श्री राम…. को राग जोग में बांधकर विभा ने अपनी रचनात्मक क्षमता का परिचय कराया और आगेनरसी मेहता के रचे और पारंपरिक धुन एवं और मिश्र खमाज राग पर आधारित बापू के प्रिय भजन- वैष्णव जन तो ते ने कहिये सुनाकर सुधी श्रोताओं की वाहवाही पाई। विभा के साथ तबले पर कुशल संगतकार पवन तिवारी, सितार डा.नवीन मिश्र ने सुंदर साथ दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More