खबरों का है यही बाजार

किसानो को उपज का सही मूल्य दिलाने में एफपीओ की सर्वाधिक उपयोगिता: सतीश चन्द्र

0 118
                           BL NEWS
                 लखनऊ। यू पी प्रेस क्लब लखनऊ में आज नवगठित फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन/फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी  ( एफ.पी.ओ. / एफ.पी.सी.)  द्वारा गोष्ठी का आयोजन किया गया। 

गोष्ठी में ( एफ.पी.ओ. / एफ.पी.सी.) के अध्यक्ष सतीश चन्द्र ने कहा कि भारत एवं राज्य सरकार के द्वारा निरन्तर विभिन्न योजनाओं के माध्यम किसानों की आय दूनी करने में शासन की किसान उत्पादन संगठन ( एफ.पी.ओ. / एफ.पी.सी.) के द्वारा शासन को धन्यवाद ज्ञापित करता है।

इस क्रम में उल्लेखनीय है कि विभिन्न परियोजनाओं को शामिल कर “ कृषि उत्पादन आयुक्त ”  के द्वारा 15 जनवरी 2021 के शासनादेश संख्या -05 / 2021 / 222 / 12-01-2021-2019 टी.सी.-1 के द्वारा विभिन्न योजना के द्वारा पैरा ग्राफ 3.2.4 ( संलग्न ) के माध्यम से सभी 17 विभागों को निर्देशित कर कन्वर्जेन्स प्राप्त कराने का निर्देश प्राप्त कराया गया है परन्तु सम्बन्धित विभागों द्वारा कोई नियमित रूप से समीक्षा एवं क्रियान्वयन न कराये जाने की वजह से विभिन्न समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है । जिसकी तत्काल प्रभाव से समीक्षा कराये जाने की आवश्यकता है ।
उन्होंने कहा कि चूकि किसान उत्पादन संगठन ( एफ.पी.ओ ./ एफ.पी.सी.) किसानों का ही समूह है अतएव किसानो की उनके उपज का सही मूल्य दिलाने में एफ.पी.ओ की सर्वाधिक उपयोगिता है । जबकि सरकारी विभागों द्वारा खरीद किये जाने पर प्रवाहः व्यापारी या अन्य व्यापारियों द्वारा अपने प्रभाव द्वारा उपयोग किये जाने की वजह से किसानों की वास्तविक खरीद नहीं हो पाती अतएव प्रत्येक ब्लॉक स्तर ( विकास खण्ड ) पर उपलब्ध एफ.पी.ओ के माध्यम से किसानों की उपज की खरीद कराने से वास्तविक किसानों को लाभ मिलना निश्चित है , जिससे किसानों की आय स्वतः कम से कम डेढ़ गुना निश्चित हो जायेगी , जिसकी समीक्षा एफ.पी.ओ न्यनतम समीक्षा मूल्य और बाजार मूल्य के आकड़ो को तत्काल चेक करने सरकार इसको प्रभावी बना सकती है ।

( एफ.पी.ओ. / एफ.पी.सी.) के उपाध्यक्ष संतोष कुमार ने कहा कि सहकारिता विभाग द्वारा सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ किसानों को देने की मन्शा है इस क्रम में (एफ.पी.ओ / एफ.पी .सी ) लघु एवं किसानों के समूह होने के नाते अगर एफ.पी.ओ के लिए सहकारी समिति इफको/क्रभिको के माध्यम से लाइसेन्स जारी कराया जाता है जो पहले किसी भारत सरकार एवं राज्य सरकार एफपीओ नीति में लागू है जिससे किसानों की लागत मूल्य में कमी आयेगी उन्होंने कहा कि समय पर उर्वरक , बीज , दवाईया उपलब्ध होने से उनकी फसलों की उपज बढ़ेगी , आय वास्तविक रूप से बढ़ेगी ।

गोष्ठी में सलाहकार अवधेश कुमार, आर पी पचौरी, महासचिव अभय सिंह सहित काफी संख्या में किसान प्रतिनिधि शामिल हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More